Javascipt has been disabled. NPP Amroha / ई-गवर्नेंस / म्युटेशन्स

म्युटेशन्स

लैण्ड म्यूटेशन क्या है?>

जब प्रॉपर्टी को बेचा या स्थानांतिरत किया जाए किसी एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति के नाम पर, तो उस प्रक्रिया को म्यूटेशन कहते हैं। किसी प्रॉपर्टी को म्यूटेट करने पर, भूमि राजस्व विभाग में नए मालिक के नाम पर सभी दस्तावेज हस्तांतरित कर दिए जाएंगे, जिसके बाद सरकार सही मालिक से प्रॉपर्टी कर वसूल कर सकती है। किसी व्यक्ति विशेष को म्यूटेशन कराने के लिए और नए मालिकाना हक पाने के लिए, अपना विवरण राजस्व रिकॉर्ड में व्यवस्थित करना होगा, जो कि नगर पालिका परिषद द्वारा होगा।

भूमि के म्यूटेशन की आवश्यक्ता क्यों हेती है?

भूमि के म्यूटेशन द्वारा, कोई व्यक्ति किसी भूमि के लिए अधीकृत हो जाता है। भूमि के मालिकाना हक पर विवाद को उत्पन्न न होने देने के लिए, दोनो पार्टियों (खरीददार और बेचने वाला) द्वारा म्यूटेशन कराया जाता है। भूमि, फ्लैट, दुकान, घर, होल्डिंग के लिए म्यूटेशन आवश्यक है।

अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें Urban Local Bodies