महत्त्वपूर्ण स्थल

अमरोहा

नव निर्मित जिले का मुख्यालय यहां मोरादाबाद से 30 किलोमीटर पश्चिम में लखनऊ-दिल्ली रेलवे लाइन पर स्थित है। आम और मछलियाँ यहां प्रचुरता में उपलब्ध है।. ऐसा कहा जाता है कि जनरल शारफुद्दीन यहां आए थे और स्थानीय लोगों ने आमों और मछलियों को प्रस्तुत किया था। इस प्रकार उन्होंने शहर को आम-रोहू नाम दिया, जिसे अब अमरोहा कहा जाता है। यह भी कहा जाता है कि इस शहर को 3000 साल पहले हस्तिनापुर के राजा अमरजोद ने बनवाया था। इसके बाद अम्बा देवी ने इसका पुनः निर्माण करवाया था इसके बाद यह त्यागी लोगों का राज्य बन गया, जिन्होंने मुगलों के आगमन तक यहां शासन किया।

गजरौला

यह राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 24 और मोरादाबाद से 53 किलोमीटर और दिल्ली से 100 किलोमीटर दूर स्थित है। इसे एक महत्वपूर्ण औद्योगिक शहर के रूप में विकसित किया गया है।. यहां कई बड़े और मध्यम उद्योग जैसे वाम ऑर्गेनिक्स, चड्ढा रबड़, हिंदुस्तान लीवर का शिवालिक सेलुलोज आदि यहां स्थित हैं।

तिगरी

यह गंगा के तट पर मोरादाबाद से लगभग 62 किलोमीटर दूर स्थित है।. हर साल कार्तिक पौर्णिमा पर, यहाँ प्रसिद्ध गंगा मेला आयोजित किया जाता है और लाखों भक्त गंगा में पवित्र स्नान करतें हैं।